वास्तु शास्त्र के अनुसार रुपए-पैसों को रखने का ढंग दर्शाता है धन टिकेगा या नहीं. धन का आगमन होता रहे और उसमें बरकत होती रहे इसके लिए वास्तु में कुछ खास नियम बताए गए हैं.

आर्थिक संपन्नता की चाहत हर इंसान की होती है. साथ ही हर कोई चाहता है कि उसकी जेब पैसों से भर रहे. परंतु, धन आगमन की स्थिति हमेशा एक जैसी नहीं रहती है. 

वास्तु शास्त्र के मुताबिक रुपए-पैसों को रखने का ढंग दर्शाता है धन टिकेगा या पानी की तरह बह जाएगा. ऐसे में वास्तु शास्त्र के अनुसार जानते हैं कि धन का रख-रखाव किस प्रकार करना चाहिए.

पर्स में किसी भी स्थिति में लोहे की वस्तुएं जैसे ब्लेड, चाकू इत्यादि ना रखें. इसके अलावा पर्स में दवाईयां रखना भी शुभ नहीं माना जाता है. इन वस्तुओं को पर्स में रखने से पास में पैसे नहीं रुकते.

वास्तु शास्त्र के मुताबिक पर्स फटा हुआ या दयनीय स्थिति में नहीं होना चाहिए. वास्तु के अनुसार, फटा हुआ पर्स आर्थिक तंगी पैदा करता है. ऐसे में पर्स फट जाए तो उसे तुरंत बदल लेना चाहिए.

अक्सर लोग पर्स में पुराने बिल, रसीद और अनावश्यक कागजात रखे रहते हैं. वास्तु के मुताबिक इसके पर्स में रुपए-पैसों का ठहराव कम हो जाता है. पुराने कागजात और रद्दियों से राहु का कनेक्शन होता है. ऐसे में पुराने कागजात और रसीद को पर्स में नहीं रखना चाहिए.

अक्सर लोग पर्स में पुराने बिल, रसीद और अनावश्यक कागजात रखे रहते हैं. वास्तु के मुताबिक इसके पर्स में रुपए-पैसों का ठहराव कम हो जाता है. पुराने कागजात और रद्दियों से राहु का कनेक्शन होता है. ऐसे में पुराने कागजात और रसीद को पर्स में नहीं रखना चाहिए.

रुपए-पैसे व्यवस्थित ढंग से रखना चाहिए. वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में सिक्के बिखड़े पड़े होने से कर्ज की समस्या उत्पन्न होती है.

पर्स में रखे सिक्कों की आवाज नहीं आना चाहिए. वहीं मां लक्ष्मी का यंत्र या धन वर्षा करते हुए उनकी एक छोटी तस्वीर रखने से पैसों में बरकत होती है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. हिंदी ब्लॉग इंडिया  इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. हिंदी ब्लॉग इंडिया  इसकी पुष्टि नहीं करता है.)