" हमारी ख़ामोशी को हमारा घमंड ना समझो ,,, कुछ ठोकरे एसी खायी है ..की बोलने का मन ही नहीं करता "

www.hindiblogindia.com/

" अपना और पराया क्या है ... मुझे तो बस यही पता है..की जो भावनाओं को समझे "वह अपना " और जो भावना से परे हो" वह पराया " ओर जो दूर रहकर भी पास हो "वह अपना " और जो पास रहकर भी दूर हो" वह पराया "

www.hindiblogindia.com/

" झूठा अपनापन तो हर कोई जताता है... वह अपना ही क्या जो... पल पल सताता है.. यकीन न करना हर किसी पर क्योंकि करीब है कितना कोई यह तो वक्त ही बताता है "

www.hindiblogindia.com/

" वक्त ने कुछ ऐसा पेतरा आजमाया कौन अपना कौन पराया ,,,सब दिखाया उम्मीद लगा कर बैठे थे जिन रिश्तो से उन्हीं रिश्तो ने मिट्टी में मिलाया "

www.hindiblogindia.com/

" वक्त बुरा हो तो अपनों की पहचान कर लो... कौन अपना है और कौन पराया बुरे वक्त में जान लो "

www.hindiblogindia.com/

" अपना कहने से कोई अपना नहीं होता... अपना वह होता है जिसे.. दिल से अपनाया जाता है "

www.hindiblogindia.com/

" मेरा-तेरा, छोटा-बड़ा, अपना-पराया मन से मिटा दो,,, फिर... सब कुछ तुम्हारा है, और तुम सबके हो "

www.hindiblogindia.com/

" जिंदगी के हर मोड़ पर उन्होंने एहसास कराया है कि... कौन अपना है और कौन पराया है "

www.hindiblogindia.com/

" वक्त मोन है... समय आने पर बता देता है कि... किसका कौन है "

www.hindiblogindia.com/

For More....

Arrow