क्या आप की भी रात को 4 बजे के आस-पास नींद खुल जाती है और ऐसा रोज होने लगा है जबकि आप कोई अलार्म लगाके भी नही सोते | तो यकीन मानिये आपको भी ब्रह्माण्ड आपके जीवन के संबंध में कुछ निर्देश देना चाहता है,

भगवान निर्देश देना चाहते है की ये समय आपके लिए सोने का नही है, उठ जाओ , मेहनत करो और अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लो

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार एक एसी तालिका जिसमे खगोलीय आधार पर दिन और रात की 24 घंटो की दशा को दरसाया गया हो , 24 घंटे में 30 मुहर्त होते है दिन-रात के 30 वे भाग को ब्रह्म मुहर्त कहते है.. एक मुहर्त 2 घटी या 48 मिनट का होता है | सुबह के 4.24 बजे से 5.12 के मध्य के समय को ब्रह्म मुहूर्त कहते हैं।

Brahma Muhurta में ये करें |

1.पढाई  2.ध्यान  3.पूजा-पाठ  4.योग  5.जोगिंग 

Brahma Muhurta में ये ना करें

1.नकारात्मक विचार, 2.बहस,  3.वार्तालाप,  4.संभोग,  5.नींद,  6.भोजन,  7.यात्रा

Brahma Muhurta के बारे में और अधिक जानने के लिए Learn More पर Click करे | धन्यवाद |