भोजन मन्त्र: ॐ सह नाववतु

हमारी भारतीय संस्कृति में भोजन को ईश्वर के समान माना जाता है , अतः हम जब भी भोजन करते है तो हम धन्यवाद देते है ईश्वर को ,जिसकी कृपा से हमे भोजन प्राप्त हुआ

हम धन्यवाद देते है और प्रार्थना करते है उस ईश्वर से की जिस तरीके से आज आपने हमारी थाली में आकर हमारी भूख मिटाई है वेसे ही आप सभी को प्राप्त हो

जिस भोजन से हमारे शरीर का निर्माण होता है ,उस भोजन का हमें सदेव आभारी रहना चाहिए |

तो आइये जानते है कोनसा है.. Bhojan Mantra

ॐ सह नाववतु। सह नौ भुनक्तु। सह वीर्यं करवावहै। तेजस्विनावधीतमस्तु। मा विद्‌विषावहै॥ ॐ शान्ति: शान्ति: शान्ति:॥

हे परमेश्वर ! हम शिष्य और आचार्य दोनों की साथ-साथ रक्षा करें। हम शिष्य और आचार्य दोनों का एक साथ पोषण करें। हमं दोनों साथ मिलकर बड़ी ऊर्जा और शक्ति के साथ कार्य करें एवं विद्या प्राप्ति का सामर्थ्य प्राप्त करें। हमारी बुद्धि तेज हो। हम दोनों परस्पर द्वेष न करें। ओम! शांति, शांति, शांति ।

Detail में जानने के लिए Learn More पर Click करे |