Ruturaj Gaikwad Biography in Hindi : Girlfriend, Cast, IPL 2021

0
187

Ruturaj Gaikwad Biography in Hindi : ऋतुराज गायकवाड जब से इन्होने IPL में Chennai Superkings की तरफ से धमाकेधार ओपनिंग साझेधारी की है तब से क्रिकेट की दुनिया में हर कोई इन्हें जानने लगा है, ऋतुराज को क्रिकेट जगत मे दाहिने हाथ के बैट्समैन (Right Hand Batsman) के रूप मे जानते है..

IPL ने भारतीय क्रिकेट टीम को काफी अच्छे-अच्छे खिलाड़ी दिए है, जिसमे कई बड़े नाम शामिल है जैसे हार्दिक पंड्या,, पर कई खिलाड़ी ऐसे भी है जो अपने घरेलु क्रिकेट से निखरकर आते है,, उनमे से एक नाम ऋतुराज गायकवाड़ भी है, तो चलिए जानते है इस बेहतरीन खिलाड़ी के निजी जीवन और करियर के बारे मे शुरू से..

Ruturaj Gaikwad Biography in Hindi

Ruturaj Gaikwad Biography in Hindi
Ruturaj Gaikwad Biography in Hindi
पूरा नाम (Full Name) ऋतुराज गायकवाड
पेशा (Profession) क्रिकेटर बैट्समेन
पिता का नाम (Father Name) दशरथ गायकवाड Dashrath Gaikwad (रक्षा अनुसंधान विकास अधिकारी)
माता का नाम (Mother Name) सविता गैकवाड    
बहन (Sister) एक बहन  
आयु (Age) 24 वर्ष (2021)
जन्म (Birthday, Date Of Birth) 31 जनवरी 1997
जन्म स्थान (Birth place)           पुणे, महाराष्ट्र
शिक्षा (Education Qualification, School)    St Josephs High School
धर्म (Religion) हिन्दू
Caste (Cast) ज्ञात नहीं
पत्नी (Marital Status/Wife) Umarried
Girlfriend (GF) (Affairs) उत्कर्षा
कोच (Coach)   ज्ञात नहीं
घरेलू टीम (Domestic Team)   महाराष्ट्र
आईपीएल टीम (IPL Team)   (Chennai Super Kings
जर्सी नंबर (Jersey Number)  31 (India U-23)

31 (Chennai Super Kings)

होमटाउन (Hometown) पुणे महाराष्ट्र,
उचाई (Height) 5’9, 175 CM
Salary, Net Worth ज्ञात नहीं

 

ऋतुराज गायकवाड़ का परिवार | Ruturaj Gaikwad Family :

Ruturaj Gaikwad का जन्म 31 जनवरी 1997 मे हुआ था, इनके पिता श्री दशरथ गायकवाड़ और माता सविता गायकवाड़ है ,ऋतुराज गायकवाड़ का जन्म एक ऐसे परिवार मे हुआ था, जो शिक्षा को बहुत महत्व देता है उनके पिता एक रक्षा अनुसंधान विकास अधिकारी है, जबकि उनकी माँ एक नगरपालिका स्कूल मे पढ़ाती है |

ऋतुराज गायकवाड़ एक संयुक्त परिवार में बड़े हुए है, ऋतुराज गायकवाड़ कई चचेरे भाइयों के साथ बड़े हुए , जिनमे से किसी ने भी खेलो मे अपनी रूचि नही दिखाई, इन सब के बावजूद, ऋतुराज के परिवार ने उन्हे आज एक अच्छा खिलाड़ी बनाने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है |

Ruturaj Gaikwad ने 5 साल की उम्र से ही लेदर बॉल क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था, 2003 मे ऋतुराज गायकवाड़ पुणे नेहरु स्टेडियम मे न्यूज़ीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बिच होने वाले मैच को देखने गए थे, उस मैच मे ब्रेंडन मैकुलम को ऑस्ट्रेलियन गेंदबाज़ को स्कूप शॉट मारते देखा, इस शॉट ने ऋतुराज गायकवाड़ को क्रिकेट के प्रति बहुत प्रेरित किया |

Cricket Shayari In Hindi | Cricket Status Hindi | Cricket Quotes

ऋतुराज गायकवाड़ ने महज 11 साल की उम्र मे पुणे वेंगसरकर क्रिकेट अकादमी को जॉइन किया, वहाँ पर कड़ी मेहनत के चलते  जल्द ही महाराष्ट्र अंडर-14 और अंडर-16 टीमो में शामिल हो गये |

ऋतुराज गायकवाड़ क्रिकेट करियर | Ruturaj Gaikwad Cricket Career :

Ruturaj Gaikwad ने अपने अंडर-19 के दिनो मे लोगो का अपनी तरफ खूब ध्यान खीचा, 2014-15 कूच बिहार ट्राफी मे ऋतुराज गायकवाड़ दुसरे ऐसे खिलाडी बने जिसने इस टूर्नामेंट मे सबसे ज्यादा रन बनाएं हो, उन्होंने 6 मैचो मे 3 शतक और 1अर्धशतक के साथ 826 रन बनाए थे, उन्होंने अगले टूर्नामेंट में तिहरा शतक भी जड़ा, लगातार चल रहें  इनके बेहतरीन प्रदर्शन की बदोलत, उन्हे 2016 के अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप के लिए भारत की अंडर-19 टीम में चुना गया |

वर्ल्डकप मे ऋतुराज गायकवाड़ का प्रदर्शन कुछ खास नही रहा, पर उन्होंने इस असफलता से हार नही मानी और एक बार फिर अपने आप को घरेलु क्रिकेट मे साबित किया, उन्होंने फिर कूच बिहार ट्राफी मे 7 मैचो मे 4 शतक और 3 अर्धशतक के साथ टूर्नामेंट मे कुल 875 रन बनाएं |

ऋतुराज गायकवाड़ घरेलु क्रिकेट करियर | Ruturaj Gaikwad Domestic Cricket Career :

  • ऋतुराज ने 2016-17 मे, महाराष्ट्र रणजी टीम के लिए 19 साल की उम्र मे प्रथम श्रेणी क्रिकेट मे अपना पदार्पण किया, इनका रणजी करियर बहुत छोटा रहा क्योंकि इन्हे एक मैच के दौरान चौट का सामना करना पड़ा और इसी वजह से इनकी सर्जरी हुई और परिणामस्वरुप इन्हे रणजी सीजन छोड़ना पड़ा |
  • 7-8 हफ्तो के आराम के बाद ऋतुराज एक बार फिर विजय हजारे ट्राफी मे, मैदान मे नजर आए, वहां उन्होंने सिर्फ एक मैच खेला, अगले सीजन मे ऋतुराज को अपनी टीम का सलामी बल्लेबाज़ घोषित किया गया, इस युवा खिलाड़ी ने हिमाचल प्रदेश की टीम के खिलाफ 110 गेंद में 132 रन जड़कर, अपने लिस्ट-A क्रिकेट का पहला शतक जड़ा, उसके बाद ऋतुराज गायकवाड़ महाराष्ट्र की टीम के नियमित खेलने वाले खिलाड़ी बन गये |
  • 2018-19 घरेलू सत्र ऋतुराज गायकवाड़ के लिए महत्वपूर्ण साबित हुआ, क्योंकि रणजी और विजय हजारे ट्रॉफी दोनो मे उनके प्रदर्शन ने इस युवा खिलाड़ी के लिए इंडिया-A टीम के दरवाजे खोले, ऋतुराज गायकवाड़ ने रणजी ट्राफी के 11 मैचो मे 456 रन और विजय हजारे ट्रॉफी मे 365 रन बनाए |
  • 2019 मे, ऋतुराज गायकवाड़ ने इंग्लैंड लायंस के खिलाफ बोर्ड प्रेसिडेंट्स XI के लिए खेलते हुए शतक बनाया, इस पारी ने उन्हें श्रीलंका-A के खिलाफ होने जा रही वन-डे सीरीज के लिए जून 2019 मे पहली बार इंडिया-A टीम में शामिल किया गया |

Venkatesh Iyer Biography Hindi | वेंकटेश अय्यर जीवन परिचय

  • Harshal Patel Biography in Hindi | हर्षल पटेल जीवनी
  • अपने चयनकर्ताओ को सही साबित करते हुए ऋतुराज ने अपने पहले ही मैच मे 136 गेंदों पर नाबाद 187* रन और दुसरे मैच मे 125* रन नाबाद बनाकर सभी को अपने हुनर का जलवा दिखाया |
  • श्रीलंका के खिलाफ असाधारण प्रदर्शन के बावजूद, भारत-A के वेस्ट इंडीज के दौरे के लिए शुरू मे, ऋतुराज गायकवाड़ का नाम नही लिया गया था, लेकिन किस्मत हमेशा बहादुर का साथ देती है, और कुछ ऐसा ही हुआ ऋतुराज के साथ…
  • पृथ्वी शॉ को चोट के कारन टीम से बाहर होना पड़ा और उनकी जगह ऋतुराज गायकवाड़ ने कैरिबियन का अपना पहला दौरा किया |

ऋतुराज गायकवाड़ आईपीएल करियर | Ruturaj Gaikwad IPL Career :

2018-19 मे ऋतुराज गायकवाड़ का घरेलु क्रिकेट सफ़र बहुत अच्छा रहा था और इसी घरेलु क्रिकेट के प्रदर्शन को देखते हुए ऋतुराज को IPL 2019 के लिए चेन्नई सुपर किंग्स ने अपने बेस प्राइज़ 20 लाख रूपए में ख़रीदा, हालाँकि, उन्होंने पूरे टूर्नामेंट मे कोई गेम नही खेला लेकिन लगभग दो महीने तक एम.एस धोनी, सुरेश रैना, जैसे महान खिलाड़ियो साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने के बाद, ऋतुराज ने कोई शिकायत नही की |

Priyank Panchal Biography In Hindi | प्रियांक पांचाल जीवन परिचय

आईपीएल 2020-21 के लिए उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने उनपर अपना विश्वास बनाएं रखा और अपनी टीम में शामिल किया, और इस सेसन में तो ऋतुराज गायकवाड़ ने विरोधी टीमो पर गजब कहर ढाया | उन्होंने मात्र 16 मैच में 635 रन बनाये ,जिसमे उनका उच्चतम स्कोर 101 रन नाबाद रहा |

निष्कर्ष :-

कहते है की कड़ी मेहनत और अपने आप पर विश्वास , इंसान को बुलंदियों पर ले जाता है , यही हुआ ऋतुराज गायकवाड़ के साथ | इन्होने अपनी कड़ी मेहनत के दम पर क्रिक्केट में प्रशिधि पायी | ऋतुराज गायकवाड़ के शानदार खेल की बदोलत इनका भारतीय टीम में भी सिलेक्शन जरुर हो जायेगा |

आशा करते है आपको यह लेख Ruturaj Gaikwad Biography in Hindi पसंद आया होगा, इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ शेयर करे और अपने कीमती विचार हमारे साथ जरुर शेयर करे |

धन्यवाद |

Previous articleJesus Christ Quotes in Hindi | यीशु मसीह के अनमोल वचन
Next articleThought Of Swami Vivekananda In Hindi | स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here