Pareshyan shyari in hindi-

0
242
Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

Pareshyan shyari in hindi : हेल्लो दोस्तों, इस लेख में हम लेकर आये है, (pareshan status in hindi)जिन्दगी से परेशान कुछ शायरी ,जब हम life में दुखी हो जाते है, तो हम अपने गम को कुछ शब्दों के द्वारा whatsapp और facebook पर शेयर करते है , ताकि हम अपना गम कुछ हल्का कर सके |



Pareshyan shyari in hindi,best pareshan status in hindi,ghar se pareshan shayari,apno se pareshan status,apno se pareshan shayari,परिवार से परेशान शायरी,khud se pareshan shyari,Pareshyan quotes in hindi..sad status in hindi..

तो आइये शुरू करते है :-Pareshyan shyari in hindi

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“इतना भी ना रुला ए जिंदगी कि..

मैं तुझे जीना ही छोड़ दूं “

__________________

“जमाने की फितरत से अनजान हूँ  ..

सच बोलता हूं इसलिए परेशान हूँ “

__________________

“उड़ा देती है नींदे ..

कुछ जिम्मेदारियां घर की ..

रात को जागने वाला हर इंसान

आशिक नहीं होता “

__________________



“आखिर साबित हो ही गया ,,

मुझसा कोंई बदनसीब नहीं है ..

लुट चुकी है ,हमारी सभी खुशियाँ..

इस जहाँ में ,हमसा कोंई गरीब नहीं है “

__________________

“हम तो नरम पत्तो की शाख हुआ करते थे ..

छिले इतने गये की ..

खंजर हो गये “

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“ना परेशान किसी को कीजिये ..

ना तकलीफ किसी को दीजिये ..

कोंई लाख गलत भी करे..

बस मुस्कुरा कर छोड़ दीजिये “

__________________

“जिसके नसीब में हो ज़माने की ठोकरे..

उस बदनसीब से सहारो की बात ना कर “

__________________



“हर रोज ,हम उदास होते है ..

और शाम गुजर जाती है ..

किसी रोज शाम उदास होगी..और 

हम गुजर जायेंगे “

__________________

“खुद से जितने की जिद है मेरी,,

मुझे खुद को ही हराना है ..

में भीड़ नहीं दुनिया की ..

मेरे अन्दर ही जमाना है “

__________________

“अपने घर के लोग अगर दुश्मनी करे ..

किस आसरे पर यारो,जिन्दगी बसर करे “

Pareshyan shyari in hindi

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“खबर मरने की जब आए तो .

यह ना समझना हम दगाबाज थे ..

किस्मत ने गम इतने दिए

बस जरा से परेशान थे “

__________________

“आजकल अपने भी कह रहे हैं कि..

खुदगर्ज इंसान हूं मैं..

उनको कौन समझाए

आजकल खुद से ही परेशान हूं मैं “



__________________

 

“अजीब तरह से गुजर गयी मेरी भी जिन्दगी..

सोचा कुछ,किया कुछ, हुआ कुछ और मिला कुछ “

__________________

“जिन्हें अपनी जिम्मेदारियां समझ आ जाती है ..

उन्हें परेशानियाँ दूर-दूर तक नजर नहीं आती है “

__________________

“नींद में भी गिरते है,मेरी आँखों से आशुं ..

जब तक खवाबो में मेरा साथ छोड़ देते हो “

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“चुप, बेबस, लाचार और हैरान है..

जिंदगी ! तुझसे हर कोई परेशान है “

__________________

“बोलने वालों की बोलती बंद कर ए जिंदगी..

बेजुबान मत बन, अब इतना भी परेशान मत कर “

__________________

“कल क्या होगा ,उससे सब अनजान है..

पर कल के लिए ,लोग आज परेशान हैं “

__________________

“सिर्फ खुशी में आना तुम..

अभी दूर हो जाओ ,थोड़ा परेशान हूं मैं “

__________________

“ये अलग-अलग बात है की ..

बुझा-बुझा सा रहता हूँ..

लेकिन मेरी माँ ,आज भी मुझे ..

घर का चिराग कहती है “

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“पानी से भरी आँखे लेकर ..

वह शख्स मुझे घूरता ही रहा..

वह आईने में खड़ा शख्स ..

परेशान बहुत था “

__________________

“किसी को हर वक्त परेशान करना..

खुशनुमा हुआ करता था

आज उनका हाल पूछना भी..

सजा बन गया है “



__________________

“वक्त ने फसाया है लेकिन..

में परेशान नहीं हूँ ..

ठोकरों से हार जाऊं

मैं वह इंसान नहीं हूं “

__________________

“हमारे वास्ते सब की दुआ बेकार जाती है ..

कहीं कागज की कश्ती भी ,समुन्द्र के पार जाती है “

__Pareshyan shyari in hindi__

 

“दिल परेशान रहता है उनके लिए..

हम कुछ भी नहीं है, जिनके लिए “

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“परेशान ना हुआ करो सब की बातों से..

कुछ लोग पैदा ही बकवास करने को होते हैं “

__________________

“खुश रहा करो क्योंकि..

परेशान होने से कल की मुश्किल दूर नहीं होती

बल्कि आज का सुकून भी चला जाता है “

__________________

“किस्मत भले ही परेशान करती हो,, लेकिन

जब साथ देती है तो ,जिंदगी बदल जाती है “

__________________

“थे धूप से परेशान और अब तकलीफ है बारिश से

शिकायते बेशुमार है इंसान की आदत में “

__________________

“अपनी हालत का खुद एहसास नहीं है मुझे..

मैंने गैरों से सुना है कि ,परेशान हूं मैं “

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“जिसके पास आप के लिए वक्त ना हो ..

उनको कभी परेशान मत करना,, क्योंकि

वह अपनी दुनिया में व्यस्त हैं और

उस दुनिया में तुम्हारी कोई जरूरत नहीं “

__________________

“परेशान नहीं करते हम उन्हें आजकल..

यह बात भी उन्हें परेशान करती है “

__________________

“क्यों तुम परेशान हो..

क्यों मैं खुद से हैरान हूं “

__________________

“किसी को मनाने से पहले ,,

यह जरूर जान लेना कि..

वह आपसे नाराज है या परेशान हैं “

__________________

“उदास कर देती है हर रोज यह शाम मुझे

लगता है तू भूल रहा है मुझे धीरे-धीरे “

__________________

” हे मालिक !

यहां झूठे को स्वीकारा और सच्चे को मारा जाता है “

__________________

“वह परेशान है कि मैं परेशान क्यों नहीं..

मैं भी उनकी फितरत से अनजान तो नहीं..

मुझसे उनकी परेशानी देखी नहीं जाती ..

उनके मिलने पर मैं कोशिश करता हूं कि..

कहीं मेरे चेहरे पर मुस्कान तो नहीं “

__________________

“तेरा दिमाग परेशान हो गया मेरे पीछे..

और मेरा दिल बेईमान हो गया तेरे पीछे “

 



_Pareshyan shyari in hindi_

 

“किरण चाहे सूरज की हो या आशा की..

जीवन के सभी अंधकारो को मिटा देती है “

__________________

“जिम्मेदारियां भी इम्तिहान लेती है..

जो निभाता है उसी को परेशान करती है “

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“छुपाने लगा हूं आजकल कुछ राज अपने आप से

सुना है कुछ लोग मुझको, मुझसे ज्यादा जानने लगे हैं “

__________________

“लफ्जों की दहलीज पर घायल जुबान है..

कोई तन्हाई से तो कोई महफिल से परेशान है “

__________________

“क्यों हूं परेशान अगर..

वह ना हुआ हासिल मुझे..

कुछ वादों की उम्र कम ही होती है “

__________________

“जब तेरी याद आती है ना..

आंखें तो मान जाती है पर..

यह कमबख्त दिल रो पड़ता है “

__________________

“उस शख्स से बस इतना सा ताल्लुक है मेरा

वह परेशान हो तो ,हमें नींद नहीं आती “

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“जिंदगी से परेशान मत हुआ करो दोस्तों..

ऊपर वाले ने सबको खूबसूरत बनाया है..

किसी को अच्छी सूरत देकर..

तो किसी को अच्छा दिल देकर “

__________________

“वह झूठ बोल रहा था बड़े सलीके से..

मैं एतबार ना करता तो क्या करता “

__________________

“आसमान भी साफ़ है, तारे भी हैरान हैं

ऐ चांदनी देख ,तेरा चांद कितना परेशान है “

__________________

“परेशान दिल को और परेशान ना कर..

अगर इश्क है तो इश्क कर..

प्यार का नाम लेकर..

दिल से खिलवाड़ ना कर “

__________________

“इतना परेशान मत कर ए जिंदगी..

अगर हम रुसवा हुए तो

तुम हमे ढूंढ नहीं पाओगी “

__________________

“बड़ी मुश्किल से सीखा है खुश रहना,उसके बगैर..

हमने सुना है , यह बात उसे परेशान करती है “

Pareshyan shyari in hindi

Pareshyan shyari in hindi
Pareshyan shyari in hindi

“रूठा मत कर ऐ जिन्दगी..

एक तू ही तो है, जो मुझे खुश और परेशान करती है “

__________________

आशा करता हूँ की आपको यह लेख (Pareshyan shyari in hindi) पसंद आया होगा, हमें कमेंट द्वारा आपके विचार और सुझाव जरुर बताये |

धन्यवाद |

अधिक पढ़े गये लेख :

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here