Motivational story for success-प्रेनात्मक कहानियाँ हिंदी में

0
182
self improvment

Motivational story for success

Story 1 Self Improvement

एक बार एक व्यक्ति एक पहाड़ी पर घूम रहा था उसने वहाँ एक लड़की को देखा जो एक जगह बेठ कर ध्यान लगा रही थी | एसी सुनसान पहाड़ी पर अकेली लड़की को देखकर वह बहुत अचम्भित हुआ उससे रहा ना गया तो उसने उस लड़की से पूछ हि लिया की तुम यहा क्या कर रही हो |

उस लड़की का उत्तर था की-“मुझे यहाँ बहुत जरुरी काम हैं”

वह व्यक्ति बोला-“आपको किस प्रकार का काम हैं , मुझे तो आपके लायक कोई काम नही दिख रहा |

लड़की ने जवाब दिया –“मुझे दो बाज और दो चीलों को प्रिशिक्षित करना हैं , दो खरगोशों को आश्वाशन देना हैं 

एक गधे को काम में लेना हैं एक सर्प को अनुशाशित और एक सिंह को वश में करना हैं “|

व्यक्ति बोला :-पर मुझे तो यहा इन सब में से कोई दिख ही नही रहा |

लड़की ने कहा-“ये सब मेरे अन्दर ही है “

“दो बाज मुझे मिलने वाली हर अच्छी और बुरी चीज़ पर गौर करते हैं | मुझें उनको सिखाना होगा की वे सिर्फ अच्छा ही देखे …(यह मेरी आँखे हैं )

“अपने पंजो से चौट पहुचाने वाले दो चीलों को सिखाना होगा की वो किसी को चोट न पहुचाये ” (यह मेरे हाथ हैं)

“दो खरगोश  जो इधर-उधर भटकते रहते हैं लेकिन कठिन परिस्थितियों का सामना नही करना चाहते मुझे उनको ठोकर लगने और पीड़ा सहने पर भी शांत रहना सिखाना होगा ” (यह मेरे पैर हैं ) 

“यह गधा है जो बहुत थका हुआ और जिद्दी हैं, में जब भी चलने की कोशिश करती हूँ ये बोझ नही उठाना चाहता इसे आल्शय से बाहर निकालना है”( यह मेरा शरीर हैं )

“सबसे कठिन सांप को अनुशासित करना हैं यह 32 सलाखों वाले जेल में बंद हैं लेकिन फिर भी पास आने वाले को काटने, डसने और उन्हें अपने जहर से मार देने को आतुर रहता हैं मुझे इसको अच्छे से अनुशासित करना हैं ” (यह है मेरी जीभ )

“मेरे पास एक शेर भी है जो अपने आप को जंगल का राजा समझता हैं यह सोचता हैं की उसके जेसा कोई नही हैं और बेकार ही घमंड करता रहता हैं | मुझे इसको भी वश में करना हैं ” (यह हैं मेरा अहंकार “में “)

लड़की की इन अनमोल बातें सुनकर वह बहुत ही प्रेरित हुआ और उस लडकी की बातों को अपने जीवन में उतारने की प्रतिज्ञा कर ली |

निष्कर्ष:

हमे इस प्यारी सी कहानी से ये शिक्षा मिलती हैं की अगर धरती पर रहने वाला हर एक व्यक्ति अपने आप की कमियों को पहचानकर उसमे सुधार कर ले | एक दुसरे का सम्मान करें विचारों का सम्मान करे  | आपस में मिलजुल कर रहें तो सबकुछ कितना आन्नदमय हो जायेगा | कहानी वाली लड़की ने केसे अपने आप को पहचाना और अपने शरीर के उन सभी अंगो की अच्छे से कमियाँ  बताई  जो हमारे बिच के विचारों को नहीं बेठा पाते |

जब तक हम किसी काम  को करने में आल्श्य करेंगे तब तक हम किसी काम में सफलता नहीं पा सकते और जब तक हम इस सांप रूपी जीभ को अच्छा बोलने के लिए काम में नही लेंगे तब तक हमारे बिच अच्छा माहोल नहीं रह पायेगा |

आशा करता हूँ की आपको ये कहानी पसंद आएगी और आप भी अपने जीवन में अपने आप की कमजोरियों को दूर करके एक सफल इंसान बनोगे और अपने घर और समाज के बिच सम्मान प्राप्त करोगे | अपने कमेंट करके आपके सुझाव जरुर दे |

“हर व्यक्ति दुनिया बदलना चाहता है लेकिन कोई भी खुद को नही बदलना चाहता “

“Everyone thinks of changing the world, but no one think changing himself”

 

Motivational story for success

Story 2 Self Improvement:

एक बार बादलो ने हड़ताल कर दी की हम इस अगले पांच साल तक नहीं बरसेंगे | धरती वासियों को भी समाचार भिजवाया गया की भैया इस साल हमारे भरोसे मत रहना हम पानी नहीं बरसाने वाले |

जब किसानों ने ये बात सुनी ती तो सब दुखी हुए लेकिन बेचारे कर भी क्या सकते थे और सबने अपने-अपने हल, खुरपी, फावड़ा जो भी खेती में काम आने वाली वस्तुए हैं उन सबको घर के अन्दर रख दिया और अपना दूसरा काम करने लगें लेकिन वहाँ पर किसान था जिसने ऐसा नही किया |

farmer story

वह अभी भी रोज की तरह खेत में जाता और अपने हल जोतता | एक दिन बादल उस तरफ से गुजर रहे थे तो पहले तो वो उस किसान पर हँसे और उसके समीप जाके बोले -“अरे किसान जब हमने बोल दिया की हम नही बरसने वाले तो तू यहाँ इतनी मेहनत क्यों कर रहा हैं तू भी ओरो की तरह कुछ और काम देख |

इस पर किसान ने कहा की-“आप चाहे जब बरश लेना लेकिन में तो हल इसीलिए चला रहा हूँ की कही पांच साल बाद जब आप पानी बरसाओ और में काम पर लोटू तो कहीं हल चलाना और खेती करना न भूल जाऊ |

किसान की बातें सुनकर बादल भी चिंता में पड़ गये और सोचने लगे की किसान बात तो सहीं कहता हैं | और आपस में बात करने लगे की कही पांच साल बाद अपन लोग पानी बरसाना ना भूल जाये |

बादलो में ऐसे विचार आते ही वो झट से बरसने लगे | इससे उस किसान को तो बहुत फायदा हुआ लेकिन जो बाकि के किसान थे जिन्होंने काम करना बंद कर दिया था | उनके खेती ना होने से बड़ा नुक्सान हुआ |

कहानी का निष्कर्ष:- 

कामयाबी उन्हीं को मिलती है जो विपरीत परिस्थितयों में भीं मेहनत करना नहीं छोड़ते | आज भले ही सब परिस्थितिया हमारे विपरीत हो | लेकिन अगर हम मेहनत करेंगे तो आने वाला समय हमारे लिए बहुत अच्छा होगा |

आशा करता हूँ आपको ये कहानीयां Motivational story for success पसंद आई होगी और आप भी कुछ खो जाने के गम में ना बैठकर अपने आने वाले समय को अच्छा बनाने के लिए कुछ ऐसा करे की जिससे आप  खुश रह सके और बुरे वक्त से बाहर निकाल सकें |

धन्यवाद

ये भी पढ़े :-

मानसिकता

ज्यादा सोचने वाले

व्हाट्सएप्प की सफलता

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here