Milan Shayari | मिलन शायरी

0
20

हेल्लो दोस्तों, आज हम लेकर आये है मिलन शायरी , दो लोग जब एक दुसरे से प्यार करते है , मोहब्बत करते है तो एक दुसरे से मिलने के लिए बेचेन रहते है ,उन्ही के लिए हम कुछ अनमोल Milan Shayari, Milan Quotes, Milan Status  लेके आये है जो आपको बहुत पसंद आएगी | अगर आपको यह पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे | तो आइये शुरू करते है मिलन शायरी |

Milan Shayari
Milan Shayari

Milan Shayari In Hindi 

 

तेरे मेरे मिलन का कुछ ऐसा अनूठा मंज़र होगा,

जैसे रेगिस्तान की तलब मिटाने आई हो बे-मौसम बारिश कोई

 

मिलन का एक ख्वाब रखता हूँ,तेरी चाहत का ख्याल रखता हूँ,

हो हमारा मिलन ख़्वाब्बो की तरह, हकीकत बनाने का ये प्रयास करता हूँ “

 

जल रहे है हम किसी की याद में इस तरह

नींद तो आ रही है पर दिल सोना नहीं चाहता

आओ दो पल साथ गुजार लो प्यार से

फिर ऐसा मिलन हो न हो “

 

रूह का मिलन हो जाये

बंधन ऐसा बंधा हे रूह से

तू सोचे मेरे नाम को और

मेरे दिल को खबर हो जाये “

 

बिन मिले ही इतना न मिला करो हमसे,

इज़हार-ए-इश्क़ में इक़रार सा हो जाता है “

 

तेरे मेरे मिलन का कुछ

ऐसा अनूठा मंज़र होगा,

जैसे रेगिस्तान की तलब मिटाने आई

हो बे-मौसम बारिश कोई “

 

उसकी मोहब्बत मैं ज़माना किया मैं खुद को भूल गयी

दुआ मैं उसकी खुशियां तो मांगी पर उसे मांगना भूल गयी “

 

बड़ी अजीब ‪मुलाकातें

होती थी हमारी …

वो ‪मतलब से मिलते थे ,

औऱ हमें मिलने से मतलब था “

 

होती थी हमारी बड़ी अजीब सी

मुलाकाते

वो मतलब से मिलते थे और हमे

मिलने से मतलब था “

Milan Shayari
Milan Shayari

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के,

न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है  “

 

बंधन ऐसा बांध कि रूह से

रूह का मिलन हो जाए,

तू सोचे मेरा नाम और

मेरे दिल को खबर हो जाए “

 

रोये बहुत है उसके दरवाज़े पर दस्तखत दे कर

दर्द तब हुवा जब उसने पूछा कौन हो तुम “

 

सही ना जाए तुझसे दूरी

मिलन बताओ कब होगा

आकाश जमीं सब मिल जायेंगे

मिलन हमारा जब होगा  “

 

Milan Shayariyan

 

जिंदगी सुख दुःख का अहसास हे

अधूरे मिलन की आस हे जिंदगी

फुर्सत मिले तो ख्वाब में आया करो

आपके बिना बड़ी उदास हे जिंदगी “

 

तेरा मेरा मिलन शफ़क़ सा ही है,,

कुछ पल ठहरता हैं अंधेरे में खोने से पहले “

 

मै लड़का सीधा-साधा,

तू लड़की शैतान प्रिये,

होगा अपना जल्द मिलन,

तुम मत होना परेशान प्रिये “

 

बड़े वादे करते है कुछ लोग उम्र भर साथ निभाने का

अभी ज़िंदा हूँ तो याद नहीं करते मरते तो क्या होता

 

प्रकृति की सुन्दरता

ह्रदय को शांत करती हैं

दिन से रात का यह मिलन

पिय से पिया के प्रेम का..”

 

अरमान तुजसे मिलने के दिन भर

भटकते रहते हे

न ये दिल ठहरता हे न तेरा

इंतजार रुकता हे “

 

देखो फ़लक पर हमारा मिलन हो रहा है,

कि फिर इक शाम हो चली है “

Milan Shayari
Milan Shayari

बिन मिले ही इतना न मिला करो हमसे,

इज़हार-ए-इश्क़ में इक़रार सा हो जाता है “

 

मेरी आंखों के आंसू कह रहे मुझसे

अब दर्द इतना है कि सहा नहीं जाता

न रोक पलको से खुल कर छलकने दे

अब यूं इन आंखों में रहा नहीं जाता “

 

रूह को रूह में मिलने की तलब थी,

जिस्म को छू कर वो दिल से उतर गया “

 

उम्मीद नहीं मिलन की फिर

भी तेरा इंतजार हे

अब कैसे बताऊ में किस कदर इस

दिल में तेरे लिए प्यार हे “

 

Milan Shayari

 

उससे मिलने में कोई पाबंदी नहीं अब,

मैं भी एक ख़्याली परिंदा हो चला हूँ “

 

जिस्मों के मिलन को मोहब्बत समझने वालों,

जिस्म से आगे इक रूह भी है “

 

मिलन शायरियां

 

ये मत कहना कि तेरी याद से रिश्ता नहीं रखा

मैं खुद तन्हा रहा पर दिल को तन्हा नहीं रखा

तुम्हारी चाहतों के फूल तो महफूज रखे हैं

तुम्हारी नफरतों की पीड़ को जिंदा नहीं रखा “

 

मिलन की उम्मीद नहीं, फिर भी तेरा इंतजार है..

अब कैसे बताऊं, ‘मैं’ किस कदर इस दिल में तेरे लिए प्यार है..”

 

तू धड़कन मेरी सीने से लगा के सुन

जो हरपल तुज से मिलने की

जिद करती हे “

Milan Shayari
Milan Shayari

बेवजह, बेवक्त, बेहिसाब अंबर जो बरस रहा,

मिलन है ये तेरा मेरा बरसों बाद जो हो रहा “

 

आओ फिर से अजनबी बन कर मिलें,

तुम मेरा नाम पूछो मैं तुम्हारा हाल पूछूँ “

 

याद करेंगे तो दिन से रात हो जायेगी

आईने में देखिये खुद को हमसे बात हो जायेगी

शिकवा न करीये हमसे मिलने का

आँखे बंद करीये मुलाकात हो जायेगी “

 

सावन का महिना, बारिश की वो बूँदे याद आती है हरपल वो वादें ,

वो मिलने की उम्मीदें. “

 

तुझसे मिलने का बहोत मन करता हे

हो सके तो कुछ पल के लिए

आज ख्वाबो में आ जाना “

 

मिलन की रात थी, जल रहा था दिल का दिया,

बड़ी खूबसूरत थी तन्हाई भी, धड़क रहा था जिया “

 

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के,

न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है “

 

दोस्त जब भी तू उदास होगा

मेरा ख्याल तेरे आस-पास होगा

दिल की गहराईयों से जब भी करोगे याद हमें

तुम्हें.. हमारे करीब होने का एहसास होगा “

 

मिलन शायरियां

 

अधूरे मिलन की आस हैं जिंदगी,

सुख – दुःख का एहसास हैं जिंदगी,

फुरसत मिले तो ख्वाबो में आया करो,

आप के बिना बड़ी उदास हैं जिंदगी “

 

 

मै रेत की धारा तुम समन्दर का किनारा,

देखो ना कितना हसीन है मिलन हमारा “

 

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के,

न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है “

 

ए हवा तूने फिर से मिलन की तड़प जगा दी

तू क्यों छूकर आई उसके बदन को “

 

हदय को शांत करती हे पकृति

की सुंदरता

दिन से रात का यह मिलन

प्रिय से पिया के प्रेम का

आगाज करता हे “

 

कुछ तो खुदा की भी खुदारी रही होगी इसमें,

जो इतनी आसानी से हमें मिलाया है “

 

मुझे अच्छा लगता है

तेरा हमसफ़र हो जाना,

मिलकर तूझसे यारा

फिर कही गुम हो जाना “

Milan Shayari
Milan Shayari

तेरे गुलाबी लव जब मेरे लबों को छू जाए

मेरी रूह का मिलन तेरी रूह से हो जाए “

 

तेरी चाहत का ख्याल रखता हु में

मिलन का एक ख्वाब रखता हु

हो हमारा मिलन ख्वाबो की तरह

हकीकत बनाने का ये प्रयास करता हु “

 

आशा करता हूँ की आपको यह मिलन शायरी, Milan Shayari बहुत पसंद आई होगी , इन्हें आप अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे | और अपने किमती विचार हमारे साथ कमेंट बॉक्स में शेयर करे |

धन्यवाद |

Romantic lines for love | Dil Me Basi Ladki Ka Mukabla| प्यार भरी शायरी

Previous articleगांव का छोरा शायरी | देशी लडको पर शायरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here