Amitabh Bachchan dialoge in hindi :-अमिताभ बच्चन के ना भूलने वाले संवाद

0
216
iconic dialoges
unforgettable dialogues from the Amitabh Bachchan in hindi-अमिताभ बच्चन के ना भूलने वाले संवाद

Amitabh Bachchan dialoge in hindi :-

अमिताभ बच्चन जी ने अपनी सभी फिल्मो में एक से बढ़कर एक संवाद (Dialoge ) दिये है जिन्हें आज भी बार-बार सुनने का मन करता है तो आइये जानते हैं उन सुपरहिट Amitabh Bachchan Dialoges in hindi के बारे में :-

रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप लगते है नाम है शंहशाहशंहशाह (1988)
डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन हैंडॉन (1978)
तुम्हारा नाम क्या है बसंतीशोले
ये तुम्हारे बाप का घर नहीं , पुलिस स्टेशन है सीधे तरीके से खड़े रहो |जंजीर
में आज भी फेके हुए पेसे नहीं उठाता |दीवार
जाओ पहले उस आदमी के sign लेके आओ , जिसने मेरे बाप को चोर कहा था , जाओ पहले उस आदमी के sign लेके आओ जिसने मेरी माँ को गाली देके नौकरी से निकाल दिया था, पहले उस आदमी के sign लेके आओ जिसने मेरे हाथ पर ये लिख दिया था ये…उसके बाद ..उसके बाद मेरे भाई तुम जहाँ sign करने के लिए कहोगे में वहाँ sign कर दूँगादीवार
पूरा नाम विजय दीनानाथ चौहान , बाप का नाम दीनानाथ चौहान , माँ का नाम सुहासिनी चौहान ,गाँव मांडवा ,उम्र छतीस सालअगनिपथ
आज मेरे पास बंगला है , गाड़ी है ,बैंक बैलेंस है , क्या है तुम्हारे पास |दीवार
घडी-घडी ड्रामा करता है साला |शोले
में और मेरी तन्हाई अक्सर यहीं बाते करते हैं |सिलसिला
सही बात को सही वक्त पर किया जाये तो उसका मजा ही कुछ और है और में सही वक्त का इंतज़ार करता हूँ |त्रिशूल
अंग्रेजो के ज़माने का जेलर और इतनी घबराहट |शोले
अगर अपनी माँ का दूध पिया है तो सामने आ |लावारिश
मूंछे हो तो नाथूलाल जेसी वरना ना हो |शराबी
गोवर्धन सेठ, समुन्दर में तैरने वाले तालाबों में डुबकी नहीं लगाया करते |शराबी
जिस तरह गोभी का फूल, फूल होकर फूल नहीं होता वैसे ही गेंदे का फूल भी फूल होकर फूल नहीं होता |चुपके चुपके
आज आपके पास आपकी सारी दौलत सही, सब कुछ सही लेकिन मैंने आप से ज्यादा गरीब आज तक नहीं देखा, गुड बाय मिस्टर आर के गुप्ता |त्रिशूल
मेरी हिस्ट्री जानता नहीं है तू, मेरे शरीर में हड्डी कम टांके ज्यादा है |डिपार्टमेंट
पैसा क्या है सिर्फ एक नंबर ना |तीन पत्ती
सपने भी समुंदर की लहरों की तरह हकीकत कि छतों से टकराकर टूट जाते हैं |दीवार
अपनी शर्तों पर चलने वाले को कीमत चुकानी पड़ती है,मुझे जो सही लगता है वो मैं करता हूँ |सरकार राज
जिंदगी का तम्बू तीन बम्बू पे खड़ा हैं |शराबी
अरे ये जीना भी कोई जीना है लल्लू |मिस्टर नटवरलाल
परम्परा, प्रतिष्ठा, अनुशासन ये इस गुरुकुल के तीन स्तम्भ हैं, ये वो आदर्श है जिनसे हम आपका आने वाला कल बनाते हैं |मोहबत्ते
वहाँ से तुम्हे ये छह दिख रहा होगा लेकिन मुझे यहाँ से ये नौ दिख रहा हैं |आखिरी रास्ता
इस दुनियाँ में दो तरह के कीड़े होते हैं , एक तो वो जो कचरे से उठते है और दूसरा वो जो पाप की गंदगी से उठता है |हम
हम जहाँ खड़े हो जाते है लाइन वही से शुरू होती हैं |कालिया
ये कोयले की खान एक अजगर है सेठ साहब , जो रोज अनगिनत लोगों को निगलकर , उसे पीसकर , जिस्म से खून का एक-एक कतरा चूसकर एक लाश के रूप में उगल देता है |काला पत्थर
है किसी माँ के लाल में हिम्मत जो मेरे सामने आये |नमक हराम
और वेसे ही , में इसको यहाँ नहीं मारूंगा वरना लोग कहेंगे सिकंदर ने अपने इलाके में उसे मारा |मुकद्दर का सिकंदर
आप ने जेल की दीवारों और जंजीरों का लोहा देखा है जेलर साहब , कालिया की हिम्मत का फौलाद नहीं देखा |कालिया
बचपन से है सिर पर अल्लाह का हाथ और अल्लाह रखा है मेरे साथ , बाजु पर है 786 का बिल्ला , बीस नंबर की बीडी पीता हूँ , काम करता हूँ कुली का और नाम है इकबाल |कुली
अपुन वो कुत्ते की दूम है जिसको बरस-बरस नाली में डाल दो , नाली टेढ़ी होती अपुन सीधा नहीं होता |लावारिश
I can talk English, I can walk English, I can laugh English because English is a very phunny language. Bhairo becomes Byron because their minds are very narrow.नमक हलाल
नारंग साहब ये काम कोई भी इंसान अकेले कर सकता था बशर्त यह है की उसे मेरी ही तरह पता होना चाहिए की वो इस दुनियाँ में अकेला आया है और अकेला ही जायेगा ,इसीलिए अगर उसे कुछ करना है तो वो अकेले ही करना पड़ेगा |शक्ति
कल्लू से कलियाँ का सफ़र शुरू |कालिया
ओरो को तो इन्होंने एक घंटे में सिखा दिया हैशोले
दारु पिने से लीवर ख़राब हो जाता हैं |सत्ते पे सत्ता
ये टेलीफोन भी अजीब चीज़ है ,आदमी सोचता कुछ और है , बोलता कुछ और है और करता कुछ और है |अगनिपथ
सच का नकाब पहने कुछ नामुमकिन किस्से , आहिस्ता आहिस्ता वाकई सच बन जाते है |आँखे
पार्टनर अब बोल ही दिए हो तो देख लेंगे |शोले
इस ईमारत की नीव इतनी मजबूत है की कोई राज आर्यन हाथों में वोयलेन और चेहरे पर मुस्कान लिए उसकी एक भी ईट हिलाने के लिए कदम नहीं रख सकता |मोहब्बते
हमारे देश में काम ढूँढना भी एक काम है |शक्ति
Pain is my destiny and I can’t avoid it.काला पत्थर
एह कांचा साला बन्दुक भी दिखाता है और पीछे भी हटता है |अगनिपथ
जिसने पचीस साल से अपनी माँ को थोडा थोडा मरते देखा है उसे मौत का क्या डर |त्रिशूल
आनंद मरा नहीं आनंद मरते नहीं |आनंद
पीटर तुम लोग मुझे वहाँ ढूँढ रहे हो और में तुम्हारा यहाँ इंतजार कर रहाँ हूँ |दिवार
ऐसा तो आदमी दोहीच टाइम भागता है , ओलंपिक की रेस हो या पुलिस का केस हो |अमर-अकबर-अन्थोनी
चैन खुली की मैंन खुली की चैन |सत्ते पे सत्ता
उफ़ तुम्हारे उसूल ,तुम्हारे आदर्श ,किस काम के है तुम्हारे उसूल , तुहारे सारे उसूलो को गुन्द्कर एक वक्त की रोटी नहीं बनाई जा सकती |शक्ति
कच्चा पापड़,पक्का पापड़ |याराना
बड़ी हिम्मत चाहिए विजय साहब , बड़ा हौसला चाहिए इसके लिए , दाग दामन पर नहीं दिल पर लिया है मेने |कभी-कभी
अबे बुढा होगा तेरा बाप |बुड्ढा होगा तेरा बाप
जिगर का दर्द ऊपर से मालूम नहीं होता हैं |शराबी
हमारे यहाँ घडी की सुई करेक्टर डिसाइड करती है |पिंक
ना शब्द एक शब्द नहीं अपने आप में पूरा वाक्य है |पिंक
Don’t mess with the army.मेजर साहब

 

आशा करता हूँ की आपको सब को अमिताभ बच्चन के ना भूलने वाले संवाद (Amitabh Bachchan dialoge in hindi) पसंद आये होंगे और आने वाले भी चाहिए क्योंकि बॉलीवुड के शहंशाह ने ये talk अपनी मूवीज में बोले थे | तो आप कमेंट करके जरुर बताइयेगा की आपको कोन सा संवाद  पसंद आया और अगर कोई रह गया है तो आप कमेंट करके भी बता सकते हैं |

ये भी पढ़े : अमिताभ बच्चन जीवनी 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here