शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ-True motivational stories in hindi

0
1240
शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ, motivational story
शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

True motivational stories in hindi

हेल्लो दोस्तों , मैं आपके लिए फिर से एक बार लेकर आया हूँ बहुत ही खुबसूरत एंड शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ (motivation story) ,प्रेरणादायक छोटी कहानियाँ,जिनसे आपको निश्चित ही कुछ सीखने को मिलेगा। अक्सर हमें छोटी-छोटी कहानियों से बड़ी-बड़ी सीख मिलती है और ये Hindi Moral Stories for Students हमारे जीवन में एक motivation का काम करती है।

तो आइये शुरू करते है शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ:-कहानी कहानी

गुब्बारे वाला

Motivational story in hindi
शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

एक व्यक्ति गुब्बारे बेचकर जीवन यापन करता था वह गांव के आसपास रहने वाले झोपड़ियों के पास जाता और गुब्बारे बेचता, बच्चों को लुभाने के लिए वह तरह-तरह के गुब्बारे रखता था |

जैसे कि” लाल, पीले, नीले, हरे, गुलाबी “और जब कभी उसे लगता की बिक्री नहीं हो रही है या कम हो रही है तो वह एक गुब्बारा हवा में छोड़ देता जिसे उड़ता देखकर बच्चे खुश हो जाते और गुब्बारे खरीदने के लिए पहुंच जाते थे |

इसी तरह एक दिन वह झोपड़ियों के पास गुब्बारे बेच रहा था और बिक्री बढ़ाने के लिए बीच-बीच में गुब्बारे हवा में उड़ा रहा था यह सब पास ही खड़ा एक छोटा बच्चा बड़ी जिज्ञासा के साथ देख रहा था |

सुप्रभात अभिवादन-Hindi Good Morning Quotes, Wishes, Images {2021}



अतः इस बार जैसे ही गुब्बारे वाले ने एक लाल कलर का गुब्बारा उड़ाया तो वह उसी वक्त गुब्बारे वाले के पास पहुँचा और बड़ी मासूमियत से बोला, “अगर आप यह सफेद गुब्बारा छोड़ेंगे तो क्या यह भी ऊपर जाएगा “

तो गुब्बारे वाले ने बड़ी हसरत के साथ उसे देखा और मुस्कुराहट के साथ बोला, हाँ  बिल्कुल जाएगा ! गुब्बारे का ऊपर जाना है इस बात पर निर्भर नहीं करता कि वह किस रंग का है बल्कि इस पर निर्भर करता है कि उसके अंदर क्या है ”

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ शिक्षा :-

दोस्तों ठीक इसी तरह हम इंसानों के लिए भी यह बात लागू होती है कि कोई अपनी लाइफ में क्या पाता है ,क्या करता है ,यह उसके बाहरी रंग रूप पर डिपेंड नहीं करता है बल्कि इस बात पर डिपेंड करता है कि उसके अंदर क्या है , कितना जज्अबा है अपनी मंजिल तक पहुचने का , अतः हमारा एटीट्यूड ही हमारा लक्ष्य निर्धारित करता है |

 

हाथी और छह अंधे व्यक्ति | शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ, motivational story in hindi
शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

एक समय की बात है किसी गांव में 6 अंधे व्यक्ति रहते थे ,एक दिन गांव वालों ने उन्हें बताया की आज गांव में एक हाथी आया है |




उन्होंने आज तक बस हाथियों के बारे में सुना था पर कभी छुकर महसूस नहीं किया था, अतः उन्होंने निश्चय किया भले ही हम हाथी को देख नहीं सकते पर आज हम सब चल कर उसे छुकर तो महसूस कर सकते हैं और फिर वह सब उस जगह की तरफ बढ़ चले जहाँ वह हाथी आया हुआ था |

शिक्षाप्रद कहानी छोटी सी

उन सभी 6 अंधे व्यक्तियों ने हाथी को छूना शुरु किया |

पहले व्यक्ति ने हाथी का पैर छूते हुए कहा :-“मैं समझ गया हाथी एक खम्भे की तरह होता है ” |

दूसरे व्यक्ति ने पूछ पकड़ते हुए कहा :- अरे नहीं, “हाथी तो रस्सी की तरह होता है” |

तीसरे व्यक्ति ने सूंड को सहलाते हुए कहा :- अरे नहीं, मैं बताता हूँ “यह तो पेड़ के तने की तरह होता है” |

Motivational Quotes About Life In Hindi | बड़ा सोचो,बड़ा बनो | सर्वश्रेष्ठ सुविचार हिंदी में

चौथे व्यक्ति ने कान छूते हुए कहा :-अरे नहीं, मैं बताता हूँ,” हाथी एक बड़े हाथ के पंखे की तरह होता है ”

पांचवें व्यक्ति ने पेट पर हाथ रखते हुए कहा :- नहीं-नहीं  “यह तो एक दीवार की तरह होता है ”

छठे व्यक्ति ने अपनी बात रखी और कहा :- अरे ! ऐसा नहीं है  ” हाथी तो एक कठोर नली की तरह होता है ”

और फिर सभी आपस में झगड़ने लगे और खुद को सभी साबित करने में लग गए, उनका झगड़ना तेज होता गया और ऐसा लगने लगा मानो वह आपस में झगड़ते झगड़ते मर ही जाएंगे |

तभी वहाँ से एक व्यक्ति गुजर रहा था, वह रुका और उनसे पूछा “क्या बात है, तुम आपस में झगड़ क्यों रहे हो ?

तो उनमें से एक ने उत्तर दिया की ” हम यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि आखिर हाथी दिखता कैसा है “?

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

और फिर बारी-बारी से उन्होंने अपनी बात उस व्यक्ति को बताई |

उस व्यक्ति ने सभी की बात सुनी और कहा तुम सब अपनी-अपनी जगह सही हो |

तुम्हारे वर्णन में अंतर इसलिए हैं क्योंकि तुम सब ने हाथी के अलग-अलग अंग छुए, पर देखा जाए तो तुम लोगों ने जो कुछ भी बताया वह सभी बातें हाथी के वर्णन के लिए सही बैठती है |

तो सभी ने एक साथ उत्तर दिया “अच्छा ऐसा है ”

उसके बाद कोई विवाद नहीं हुआ और सभी खुश हो गए कि वह सभी सच कह रहे थे | और ख़ुशी-ख़ुशी घर लौट गये |

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ ,शिक्षा :-

मित्रों कई बार ऐसा होता है कि हम अपनी बात को लेकर बैठ जाते हैं कि हम ही सही है और बाकी सब गलत है, लेकिन यह संभव है कि हम सिक्के का एक ही पहलू देख पा रहे हैं ,इसके अलावा भी कुछ ऐसे तत्व होते हैं जो सही होते हैं, इसलिए हमें अपनी बात तो रखनी चाहिए पर दूसरों की बात भी सब्र से सुननी चाहिए और कभी भी बिना वजह बहस नहीं करनी चाहिए |

वेदों में भी कहा गया है कि एक सत्य को कई तरीके से बताया जा सकता है तो जब भी अगली बार आप ऐसे किसी बहस में पड़ जाए तो याद कर लीजिए कि कहीं ऐसा तो नहीं कि आपके हाथ में सिर्फ पूछ है और बाकी हिस्से किसी और के पास है |

 

बदलाव की कहानी | शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ
शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

एक गाँव में एक व्यक्ति रहता था जो अपने जीवन को लेकर बहुत चिंतित था उसे हमेशा लगता था कि उसके जीवन में एक बदलाव आना चाहिए जिससे उसके जीवन में किसी भी तरह से तरह की परेशानी ना हो उसके पास बहुत सारा धन रहे और उसकी खूब प्रसिद्धि हो |

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

परंतु उसके जीवन में ऐसा कुछ भी नहीं बदल रहा था क्योंकि वह कुछ करने की जगह पर सही समय का इंतजार कर रहा था | उसकी इसी आदत के कारण उसका मन दुखी रहने लगा उसके मन में नकारात्मक विचारों ने जगह बना ली उसे हर चीज में कमी नजर आने लगी |

जब भी वह कुछ करने का मन बनाता तो अचानक उसके मन में विचार आता कि शायद यह काम सही ढंग से नहीं हो पाएगा, उसे लगने लगा शायद वह कुछ करने लायक ही नहीं है ,इसका परिणाम यह हुआ कि उसका जीवन पहले से भी ज्यादा कष्ट-पूर्ण और दुखमय हो गया |

उसे समझ ही नहीं आ रहा था कि वह इस परिस्तिथि से बाहर कैसे निकले |

उसी दौरान उनके गांव में एक महात्मा आए ,जिनकी प्रसिद्ध दूर दूर तक फैली हुई थी |सभी ऐसा कहते थे कि उनके पास सभी समस्या का हल मिल जाता है | जब उस व्यक्ति ने यह सुना तो वह तुरंत उनसे मिलने चला गया,

महात्मा को प्रणाम कर उसने अपनी समस्या बताई उसने बताया कि वह जीवन में बदलाव चाहता है परंतु उसे कोई सही राह नहीं मिल पा रही है, इस कारण उसके मन में नकारात्मक विचार पनप रहे हैं |

साधु ने पूरी बात सुनी और उस व्यक्ति को दूसरे दिन सूर्योदय के समय आने के लिए कहा |



शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

दूसरे दिन वह व्यक्ति सुबह जल्दी ही उस महात्मा के पास जा पहुंचा, महात्मा जी पूजा-पाठ के बाद घुमने के लिए निकलने वाले थे ,

उन्होंने उस व्यक्ति को साथ चलने के लिए कहा ,चलते-चलते हुए वह एक खेतों के पास पहुंचे |

गेहूं की फसल की तरफ इशारा करते हुए महात्मा ने कहा :-क्या तुम बता सकते हो “इस खेत में यह फसल कैसे हुई  होगी” ?

तो उस आदमी ने कहा :-“जी पहले खेत को जोता गया होगा, फिर उसमें बिज डाला गया होगा, उसके बाद समय-समय पर पानी दिया गया होगा तभी यह फसल हुई होगी “|

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ-True motivational stories in hindi

थोड़ा आगे और चलने पर उन्होंने देखा कि एक खेत में घास ही खास थी |

एक बार फिर साधु ने उस व्यक्ति से कहा :- क्या तुम बता सकते हो “इस खेत में घास किसने उगाई होगी”

तो उस व्यक्ति ने फिर से साधु को कहा महाराज घास को कोन उगाता है ,यह तो अपने आप ही उग जाती है ,जब खेत में किसी भी प्रकार का बीज नहीं डाला जाएगा तो घास ही उत्पन्न होगी ना |

तो महात्मा ने उस व्यक्ति को कहा कि :-” तुम्हारी बातो में ही तुम्हारी समस्या का हल छिपा हुआ है |

महात्मा ने कहा मानव का मन भी एक खेत की तरह ही होता है ,इसमें तुम जो भी बिज डालोगे, तुम्हें वही फसल मिलेगी |

Motivational Hindi Story-बेहतरीन प्रेरणात्मक कहानियाँ

अगर तुम इस पर काम करते रहोगे इसमें सकारात्मकता के बीज बोते रहोगे तो यह तुम्हें सफलता की और बढ़ाएगा और यदि तुम अपने भविष्य की चिंता में वर्तमान का समय भी नष्ट करोगे तो दिमाग में नकारात्मकता की वृद्धि होगी |

बदलाव तभी संभव है ,जब हम भविष्य की चिंता छोड़ कर और सही समय की प्रतीक्षा ना करते हुए अपने वर्तमान में ही वह करे जो हमें करना चाहिए |

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

उस व्यक्ति को यह बात समझ में आ गई थी कि अगर मन को सही दिशा में लगाना है तो उसे सही दिशा की तरफ बढ़ना होगा,  मनरूपी खेत का सही प्रयोग ही जीवन में बदलाव ला सकता है इसे खाली छोड़ देने से इस पर आलस्य और नकारात्मकता अपनी पकड़ जमा लेंगे |

मन की कहे पर मत चलिए बल्कि मन को अपने कहने पर चलाइए, एक बड़ी इमारत बनने की शुरुआत भी एक ईट  रखने से ही होती है और ईट की तरह अपनी छोटी-छोटी कोशिशों को जोड़कर आप एक बड़ा मुकाम हासिल कर सकते हैं , “जरूरत है तो बस एक शुरुआत की “



शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ | शिक्षा :-

मित्रों, यह एक बदलाव की कहानी जो हमारे आसपास के लोगों से यह हमसे कहीं मिलती-जुलती होती है, हम में से कई लोग ऐसे होते हैं जो आज का काम कल पर और कल का काम परसों पर डाल देते हैं |

इसके साथ ही शिकायत भी करते रहते हैं कि पता नहीं कब सफलता मिलेगी, यदि आपके साथ या आपके मित्रों के साथ भी ऐसा ही होता है तो उन्हें यह कहानी पढाये | आशा करते है उनके जीवन को भी एक नयी राह मिलेगी |

शिक्षाप्रद छोटी कहानियाँ

आशा करता हूँ की आपको ये कहानियां पसंद आई होगी , आपके सुझाव हमें कमेंट के माध्यम से जरुर बताये |

धन्यवाद |

 

अधिक बार पढ़े गये लेख :-

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here